home

contact us

Contact Us

  • Black Facebook Icon
  • Black Twitter Icon
  • Black Instagram Icon

To Get quick replies to your queries, write us at 

faujikealfaaz@gmail.com or WhatsApp us at

+91-880-29-880-88

2538/6, E-II-66, Badarpur, New Delhi-110044

लड़कियों को तुम बहुत खूबसूरत हो कहने से लाख गुना अच्छा है,
उनकी इज्जत करना और उन्हें समाज में सम्मान देना।
"अगर आप एक पिता या माँ हैं तो अपने बेटे को ये बात समझाएं,
अगर आप भाई या बहन है तो भी अपने भाई को ये बात समझाएं।
यही मेरी इस पोस्ट के जरिये इच्छा है। 
बेशक ये मेरा भी प्रण है कि जिस दिन मैं पिता बनूँगा और मेरा बेटा थोडा सा भी बड़ा होगा तब उसे नारी का सम्मान करना सिखाऊंगा। और उसे बेहिचक ये भी बताऊंगा की उसका लड़का होना उसे कि...

"दो दिनों से देख रहा हूं , मेरे लोग मेरे देश को कोसे जा रहे हैं। #IncredibleIndia लिखकर देश का मजाक बनाए जा रहे हैं। यह सिर्फ इस बार नहीं हुआ है, ऐसा तो हर बार होता है।
वो कोई बड़ा घोटाला हो, बढ़ता भ्रष्ट्राचार हो, कोई बड़ा अपराध हो, पुलिस का रवैया हो, उग्र भीड़ द्वारा किया कोई दंगा हो या हाल में हरियाणा म की गई आगजनी; इन सब में सबसे आसान होता है फेसबुक और ट्विटर पर #IncredibleIndia और #MeraBharatMahanजैसे हैशटैग पर राष्ट...

"आज के दिन मैं तिरंगा भी नहीं फहरा सका क्योंकि आज भी हमने वो किया जो हमारा दिल कहता है। और मेरे मायने में यही मेरा स्वतंत्रता दिवस है और यही मेरी आजादी। शुक्रिया Shekhar Saini और Arun Sharma मुझे अपने साथ जोड़े रखने के लिए।"
जय हिन्द, जय भारत। 🇮🇳
भारत माता की जय।
#DilToFaujiHaiJi_KING
faujikealfaaz.com

"मेरी मां ने मुझे बचपन में 'Jhonny Jhonny yes Papa' नहीं सिखाया था।
मां ने सिखाया था–
’आओ बच्चों तुम्हें दिखाएं झांकी हिन्दुस्तान की, 
इस मिट्टी से तिलक करो ये धरती है बलिदान की।'
आज जो भी हूं उन्हीं की बदौलत हूं।" ❤
जय हिन्द, जय भारत। 
भारत 'माता' की जय।
#DilToFaujiHaiJi_KING 
faujikealfaaz.com

July 22, 2017

मेरे संकलन (Collection) की ये भी कमी पूरी हो गई।
#DilToFaujiHaiJi_KING

दिन का आगाज करने का बेहतरीन तरीका।
"सुबह-सुबह रायपुर रेलवे स्टेशन पर पिताजी को छोड़कर वापस आते हुए मेरी नज़रे किसी जरूरमंद को ढूढ़ रही थी। वो इसलिए कि पिछले एक हफ्ते से मेरे जहन में कुछ बेहतर करने कि ललक उठ रही थी, सो सुबह के 6 बजे घर से कपडे #उपयोगदान के लिए लेकर चला था। मेरी नज़रें सहसा इस आदमी पर जा टिकी। मैंने हाथ से रुकने का इशारा किया और अपनी गाडी साइड में लगायी।
"तुम्हारे लिए कुछ है मेरे पास।" मैंने गाडी का शीशा नीचे क...

Please reload

नारी का सम्मान बचपन से!

August 30, 2017

कब तक सिर्फ देश को कोसते रहोगे?

August 25, 2017

भूखे की भूख न मिटे तो आजादी किस काम की?

August 15, 2017

माँ तुझे सलाम

August 13, 2017

1/2
Please reload