home

contact us

Contact Us

  • Black Facebook Icon
  • Black Twitter Icon
  • Black Instagram Icon

To Get quick replies to your queries, write us at 

faujikealfaaz@gmail.com or WhatsApp us at

+91-880-29-880-88

2538/6, E-II-66, Badarpur, New Delhi-110044

उपयोगदान

दिन का आगाज करने का बेहतरीन तरीका।
"सुबह-सुबह रायपुर रेलवे स्टेशन पर पिताजी को छोड़कर वापस आते हुए मेरी नज़रे किसी जरूरमंद को ढूढ़ रही थी। वो इसलिए कि पिछले एक हफ्ते से मेरे जहन में कुछ बेहतर करने कि ललक उठ रही थी, सो सुबह के 6 बजे घर से कपडे #उपयोगदान के लिए लेकर चला था। मेरी नज़रें सहसा इस आदमी पर जा टिकी। मैंने हाथ से रुकने का इशारा किया और अपनी गाडी साइड में लगायी।
"तुम्हारे लिए कुछ है मेरे पास।" मैंने गाडी का शीशा नीचे करके कहा।
वो लालयित नज़रों से मुझे देखना लगा।
"शर्ट लोगे?" 
उसने आँखों में चमक लिए कहा, "हौ" (हाँ)।
सुबह के ठन्डे मौसम में मानो सूरज की गरम किरणे उसे छू गयी हो।
मैं झट से गाडी से बहार निकला और वो शर्ट निकालकर उसे दिखाई।
"हो जायेगी तुम्हे?" 
उसने बस मुस्कुराते हुए सर हाँ में हिला दिया।
मैंने तुरंत वो शर्ट निकल कर उसके हाथ में दे दी और उसने तनिक भी देर न करते हुए वो हल्के नीले रंग की कमीज पहन ली।
उस वक़्त जो कुछ भी था अच्छा था। इस बीच न कोई जाती थी न धर्म, न रंग था न रूप बस एक मानवता थी जो उस समय मेरे समक्ष प्रकट हो गयी थी। जो भी था बहुत खूबसूरत था, अतुल्य था।
उसके चेहरे पर ख़ुशी और मेरे चेहरे पर संतोष के भाव साफ़ झलक रहे थे। घर जाते हुए मेरा बाकी का रास्ता सुहाने मौसम में और भी सुहाना हो गया था।
और हेमशा की तरह फिर वही खुशी फिर वही संतुष्टि।"
#उपयोगदान
जय हिन्द, जय भारत।
#DilToFaujiHaiJi_KING

 

 

Share on Facebook
Share on Twitter
Please reload

Featured Posts

ये भी एक मानसिकता!

1/10
Please reload